क्रिप्टोकरेंसी क्या है | What is Cryptocurrency in Hindi 2021

नमस्कार दोस्तों आज हम बात करने वाले हैं Cryptocurrency in Hindi में कुछ महीनों से लोगों को यह जानने की भारी उत्सुकता देखी जा रही है दोस्तों आज हम  बात करने वाले हैं क्रिप्टोकरंसी क्या है और इसके फायदे के बारे में चलिए जानते हैं 

क्रिप्टोकरेंसी क्या है | What is Cryptocurrency in Hindi

Cryptocurrency in Hindi

दोस्तों पिछले कुछ दिनों में क्रिप्टकरेंसी में भारी उतार चढ़ाव आया हुआ है यह बिल्कुल शेयर बाजार की तरह उतरता चढ़ता देख रहा है यहां  पर इन करेंसीओ में लोग पैसा लगाकर या इन्वेस्ट करके मुनाफा भी कमा रहे हैं और इस साल सब जगह क्रिप्टोकरंसी की खूब धूम रही है शुरुआत में तो Bitcoin और Dogecoin इन जैसी डिजिटल करेंसी में जबरदस्त उछाल लगाई और निवेशकों ने जमकर पैसा कमाया पर बाद में इसमें कुछ नरमी भी दिखी इसमें उतार-चढ़ाव देखा जा रहा है फिर भी यह ऊपर की तरफ ही जा रही है क्रिप्टो करेंसी की शुरुआत बिटकॉइन के रूप में हुई सन 2009 में बिटकॉइन दुनिया की पहली  क्रिप्टोकरेंसी है

क्रिप्टोकरेंसी के बारे में 

क्रिप्टोकरंसी एक डिजिटल मुद्रा है जो सिर्फ ऑनलाइन ही मौजूद है और इसकी पहुंच विश्व के सभी देशों में है इसका लेनदेन सिर्फ ऑनलाइन ही किया जा सकता है यह मुद्रा डिजिटल और कोडेड होती है इसलिए इन्हें क्रिप्टोकरेंसी कहते हैं एक समय था जब इनकी वैल्यू बहुत हुआ करती थी पर आज इनकी वैल्यू कई ताकतवर देशों की करेंसीओ  से भी बहुत ज्यादा हो गई है आज के समय में बहुत से प्राइवेट फर्मो और कंपनियों में क्रिप्टोकरंसी वैलिड है और लोगों में इसमें निवेश व लेनदेन का चलन भी काफी बढ़ गया है सन 2020 में इसमें काफी उछाल देखा गया था तभी से लोगों में इसमें इन्वेस्ट करने को इच्छुक रहते हैं

क्रिप्टोकरेंसी की वैधता

कई देशों में क्रिप्टोकरेंसी को मान्यता दी हुई है कुछ दक्षिणी अमेरिकी देश शामिल है और भारत अमेरिका व कई प्रमुख देशों में इसको मान्यता नहीं दी है इसलिए इसे वैध करेंसी नहीं कहा जा सकता है फिर भी इसकी पहुँच सभी देशों में है बड़े इन्वेस्टर के लिए तो यह वरदान साबित हुई है इसलिए इसमें लेन-देन बहुत ज्यादा होता है और कुछ नए इन्वेस्टर भी इसमें इन्वेस्ट कर रहे है  सभी अपनी पसन्द की क्रिप्टोकरेंसी चुन रहे है लेकिन ज्यादातर इन्वेस्टर बिटकॉइन को ही चुन रहे है क्योकि 2020 में इसमें काफी ग्रोथ देखी गई थी 

क्रिप्टोकरेंसी की लोकप्रियता 

आजकल बहुत से लोगो में क्रिप्टोकरेंसी की लोकप्रियता बढ़ती जा रही है इसका प्रमुख कारण यह है कि यह बहुत तेजी से ऊपर जा रहे है इसमें रिटर्न अनुमान से कहीं ज्यादा मिल रहा है आज एक बिटकॉइन की कीमत ₹17 लाख  से भी अधिक है इसी तरह इधर dogecoin भी ऊपर की तरफ जा रही है इसकी भी वैल्यू बढ़ती जा रही है जो कि 2013 में लॉन्च की गई थी

क्रिप्टोकरेंसी का व्यापार 

क्रिप्टोकरेंसी का व्यापार एक्सचेंज यानी कि विनिमय संस्था के माध्यम से ही हो रहा है एक अनुमान के मुताबिक वर्तमान में 1.44 ट्रिलियन डॉलर बाजार मूल्य की क्रिप्टो करेंसी बाजार में चल रही है और उनसे लेन-देन व व्यपार हो रहा है इस समय भारत में 12  क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज मार्किट में है 

इसे भी पढे : शेयर मार्किट क्या है और कैसे काम करता है 

क्रिप्टोकरेंसी के प्रकार

क्रिप्टोकरेंसी के कुछ प्रमुख नाम जो इस प्रकार हैं बिटकॉइन, Ether, Dogecoin, को इन भारतीय आदि इसमें से बिटकॉइन सबसे पुराना है इसकी वैल्यू की सबसे ज्यादा है और इसी स्थापना 2009 में हुई थी

1. Bitcoin

बिटकॉइन यह दुनिया का पहला कॉइन है जिसने डिजिटल कॉइन की दुनिया बनाई है यह Blockchain के टेक्निक पर काम करता है जो कि Satoshi Nakamoto नाम के व्यक्ति ने इस लॉन्च किया था इसकी पहचान दुनिया में नहीं बल्कि बिटकॉइन दुनिया में सबसे लोकप्रिय करेंसी है जिसकी कीमत भारत में सबसे ज्यादा सबसे हाई ₹64229  एक बिटकॉइन तक रही है

2. Ethereum (Ether)

दरअसल Ethereum Blockchain प्लेटफार्म का नाम है और कॉइन नाम Ether है इसका मार्केट कैप करीब इतने डॉलर है

3. Ripple (XRP)

इसे हम तीसरे नंबर का मानते हैं यह काफी सुरक्षित यूटिलिटी कॉइन माना गया है और शुरुआत में इसे कोई बैंकों का सपोर्ट भी मिला था इसने पिछले कुछ सालों में काफी ग्रोथ  किया  है 

4. Late Coin

यह एक और बड़ा नाम है जिससे बिटकॉइन का प्रतियोगी भी माना गया है है इसको रोजमर्रा की जिंदगी में इस्तेमाल के लिए काफी आसान माना जाता है

5. Cardano

इसको इनमें काफी अपार संभावना दिखाई पड़ती है इसलिए इसमें निवेशकों का रुझान भी बड़ा है इसमें निवेश करने वाले भविष्य में लाभ कमा सकते हैं मार्केट कैप 4000 अरब रुपये था 

Disadvantage of Cryptocurrency

क्रिप्टोकरंसी जहां आप फायदा उठा सकते हैं वही उसके कुछ डिसएडवांटेज भी हैं जो कि इस प्रकार है

  • इसके अंदर अगर कोई गलत लेनदेन हो गया तो उसे आप सही नहीं कर पाएंगे
  • यह ऑनलाइन ही रहता है इसकी छपाई नहीं होती मतलब यह बहुत भौतिक रूप नहीं है
  • इसका कंट्रोल किसी सरकार के पास है और ना ही किसी बैंक के पास
  • इसमें बहुत उतार-चढ़ाव रहता है इसलिए क्रिप्टोकरंसी में निवेश करना बहुत रिस्की है
  • इसका इस्तेमाल ज्यादातर इनलीगल तौर पर बिजनेस करने वाले करते हैं
  • इसमें अगर आपका वॉलेट आईडी खो जाता है आपका निवेश डूब जाएगा जिससे वापस प्राप्त करना संभव नहीं है

इसे भी पढे : इंडेक्स फंड क्या है

मैं आशा करता हूं आपको क्रिप्टोकरेंसी क्या है से संबंधित जानकारी पसंद आई होगी  धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published.