ITR Kya Hota hai | ITR Meaning In Hindi

ITR Meaning In Hindi | ITR Kya Hota hai | ITR Kya Hai | ITR Full Form In Hindi

हेलो दोस्तों आज हम बात करने वाले है ITR Meaning In Hindi और इस आर्टिकल हम आपको ITR के बारे में पूरी जानकरी देंगे आज हम इसी पर ही बात करने वाले हैं इस लेख पर आपके सारे सवालों के जवाब देने की कोशिश करेंगे दोस्तों आपके मन में यह सब जरूर आता होगा इनकम टैक्स रिटर्न क्यों भरा जाता है और साल जुलाई के अंत तक आइटीआर फाइल करनी का समय आ जाता है यह ITR किन लोगो को भरना चाहिए और किन को नहीं  तो आइए जानते हैं इसके बारे में सीधे और सरल  शब्दों में 

ITR Meaning In Hindi

ITR Meaning In Hindi

दोस्तों जैसा कि आप सब सामान्य तौर पर यह जानते हैं कि इनकम टैक्स कमाई पर लगने वाला टैक्स है  जिसे हम को आयकर विभाग को सालाना भरना पड़ता है जो सीधे सरकार को जाता है यह टैक्स जॉब करने वाले को भी और बिजनेस करने वाले या कोई डायरेक्ट इनकम है या दुकान आदि जिन लोगों के एक लिमिट से ज्यादा इनकम होती है तो उन्हें टैक्स भरना पड़ता है टैक्स स्लैब के हिसाब से भरना होता हैं दोस्तों यह तो इनकम टैक्स हुआ अब इनकम टैक्स रिटर्न क्या है आइए समझते हैं 

जब आप इनकम टैक्स भरते समय फॉर्म भरते हैं तो आप अपनी सारी जानकारी डालते हैं अपनी इनकम के बारे में और यह सब कुछ जानकारी आयकर विभाग तक जाती है और आप यह जानकारी भरते हैं कि आपने साल में कितना कमाया है और कितना खर्च किया है यह रिटर्न जानकारी आप सरकार को देते हैं यानी कि पूरा हुआ आपका इनकम टैक्स रिटर्न 

किनको भरना होता है ITR

ITR Meaning In Hindi

दोस्तों आप जो भी कमाई करते हैं चाहे वो जो भी हो  चाहे आप नौकरी पेशा हो  या व्यापारी हो इंजीनियर, डॉक्टर अगर आपकी  इनकम टैक्स ढाई लाख से ज्यादा है  वहाँ पर आपको  ITR भरना होगा ITR भरने के लिए आपके पास पैन कार्ड होना अनिवार्य  होता है क्योंकि यह पैन कार्ड आयकर विभाग द्वारा ही प्रत्येक व्यक्ति को जारी किया करता है इसके साथ आधार नंबर भी मांगा जाता है भरने की अंतिम तिथि 31 जुलाई होती है

ITR फॉर्म कैटेगरी

दोस्तो आइटीआर जमा करने की फॉर्म की कई कैटेगरी होती है इसमें फॉर्म संख्या 1 से 4 तक कैटेगरी आम व्यक्तियों के लिए होती है और फॉर्म संख्या 5 से 7 तक की कैटेगरी संस्था व कंपनी के लिए होती है तो आज हम आपको 1 से 4 तक के बारे में बताएंगे और इन्हीं में आपको आईटीआई के हिसाब से फॉर्म चुनना होगा 

ITR फॉर्म 1 

इस फॉर्म में वे लोग चुनते है जो सैलरी पर निर्वाह करते हैं या किराए कमाते हैं वह ब्याज से कमाते है और आपकी इनकम 50 लाख से कम है तब आपको ITR फॉर्म 1 भरना होगा

ITR फॉर्म 2 

इसमें भी सैलरी वा किराया जोकि मकानों को रेट पर देने से जमीन से मिलने वाला पैसा, विदेशी इनकम, खेती से इनकम या कोई लॉटरी से इनकम इन सब में आपको आइटीआर फॉर्म 2 भरना चाहिए और सालाना इनकम 50 लाख से ज्यादा हो तो ITR फॉर्म 2  भरना चाहिए

ITR फॉर्म 3 

 ITR 3 इसमें ITR फॉर्म 2  जैसा ही सब कुछ होगा पर आपकी इनकम दो करोड़ से ज्यादा हो तो ITR 3 भरना होगा 

ITR फॉर्म 4 

ITR 4  इसमें भी सब कुछ सेम है पर अगर आप प्रोफेशन है जैसे कि वकील, डॉक्टर, व्यवसायी, इंजीनियर या बिल्डर और आपकी मंथली इनकम 50 लाख से ज्यादा है तो आपको ITR फॉर्म 4  भरना होगा 

कहां से भरे ITR 

दोस्तों वैसे तो आप ITR खुद ऑनलाइन भर सकते हैं अगर आपको अच्छी नॉलेज नहीं है तो आप किसी प्रोफेशनल CA या प्रोफ़ेशनल वकील की सहायता ले सकते हैं दोस्तों आप सबको हमने सरल और स्पष्ट भाषा में ITR  के बारे में समझाने की कोशिश की है मुझे उम्मीद है कि आप सबको अहम जानकारी मिल गई होगी दोस्तों हमने इनकम टैक्स सेविंग के बारे में अपने ब्लॉग पर पहले ही जानकारी डाली है 

इसे भी पढ़े: Income Tax Saving Tips in Hindi

मैं आशा करता हूं आपको ITR Meaning In Hindi से संबंधित जानकारी पसंद आई होगी धन्यवाद हमारी वेबसाइट पर आने के लिए

Leave a Reply

Your email address will not be published.